दुग्धशाला विकास विभाग, उत्तर प्रदेश
Dairy Development Department, Uttar Pradesh

दुग्धशाला विकास विभाग, उत्तर प्रदेश, डेयरी, डेयरी यू पी, दुग्ध विभाग, उत्तर प्रदेश राज्य दुग्ध परिषद

राज्य दुग्ध परिषद

राज्य दुग्ध परिषद का गठन

"उत्तर प्रदेश दुग्ध अधिनियम, 1976" की धारा-3 के अन्तर्गत एक निगमित निकाय के रूप में ‘उ0प्र0 राज्य दुग्ध परिषद’ का गठन किया गया जिसे प्रदेश में दुग्धशाला विकास कार्यक्रम को गतिशील बनाने का दायित्व सौंपा गया। इस संगठन द्वारा लाइसेसिंग कार्यां के साथ-साथ दुग्धशाला विकास कार्यक्रमों में भी गति प्रदान की गयी। परिषद को प्रथम बार वर्ष 1990 में गैर ऑपरेशन फ्लड जनपदों, जिन्हें दुग्ध परिषद जनपद कहा गया, में दुग्धशाला विकास कार्यक्रमों को संचालित करने हेतु क्रियान्वयन एजेन्सी घोषित किया गया। इस प्रकार दुग्ध संघों पर प्रभावी नियंत्रण के फलस्वरूप विकास कार्यां में आशातीत सफलता मिली। वर्ष 2004 में दुग्ध विकास कार्यक्रमों के क्रियान्वयन व व्यवसायिक कार्यों का संचालन समान रुप से आपरेशन फ्लड जनपदों एवं गैर आपरेशन फ्लड जनपदों में करने हेतु प्रादेशिक को-आपरेटिव डेरी फेडरेशन को क्रियान्वयन एजेन्सी घोषित किया गया।

उत्तर प्रदेश राज्य दुग्ध परिषद की प्रशासनिक व्यवस्था