दुग्धशाला विकास विभाग, उत्तर प्रदेश
Dairy Development Department, Uttar Pradesh

दुग्धशाला विकास विभाग, उत्तर प्रदेश, डेयरी, डेयरी यू पी, दुग्ध विभाग

केन्द्र पोषित योजनायें

1- दुग्ध विकास की राष्ट्रीय योजना (एनडीडीपी)-

वर्ष 2014-15 में पूर्व संचालित केन्द्र पुरोनिधानित योजनाओं को पुनर्गठन कर भारत सरकार द्वारा दुग्ध विकास की राष्ट्रीय योजना संचालित की जा रही है। दुग्ध विकास हेतु राष्ट्रीय योजना के उद्देशय निम्नवत हैः-

  • गुणवत्तायुक्त दुग्ध उत्पादन हेतु अवस्थापना सुविधाओं का सुदृढ़ीकरण तथा कोल्ड चेन की स्थापना जिससे कि कृषको को उपभोक्ताओं से जोड़ना।
  • दुग्ध उपार्जन प्रसंस्करण तथा विपणन हेतु अवस्थापना सुविधाओं की स्थापना।
  • दुग्ध उत्पादको हेतु प्रशिक्षण अवस्थापना सुविधाओं की स्थापना।
  • गाव स्तर पर दुग्ध सहकारी समितियों/उत्पादक कम्पनियों का सुदृढ़ीकरण।
  • तकनीकी निवेश सुविधाओं यथा पशुआहार, मिनरल मिक्सचर उपलब्ध कराते हुए दुग्ध उत्पादन में वृद्धि करना।
  • दक्ष/योग्य (वायबिल) दुग्ध संघो/फेडरेशन के पुनर्जीविकरण में सहयोग प्रदान करना।

2- राष्ट्रीय कृषि विकास योजना (आर0के0वी0वाई0)

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना(आर0के0वी0वाई0) योजनान्तर्गत जनपद गाजीपुर, बस्ती एवं बहराइच में डेरियों के सुदृढ़ीकरण, उच्चीकरण एवं प्रयोगशालाओं की अवस्थापना विकास हेतु राज्यांश के रूप में रू0 267.25 लाख, पी0सी0डी0एफ0 को मिल्क पार्लर, रेफ्रिजरेटेड वैन, ग्लोसाईन डीप फ्रीजर, वीजी कूलर, आईस बाक्स, प्रिन्ट एण्ड इलेक्ट्रानिक मिडिया में विज्ञापन/कन्ज्यूमर अवेयरनेस प्रोग्राम, बल्क वेल्डिंग मषीन, ग्लोसाइन(बल्क वेल्डिंग मशीन हेतु रू0 731.33 लाख, जनपद मिर्जापुर, इलाहाबाद, अलीगढ़, नोएडा (गौतमबुद्धनगर), झासी, फैजाबाद, बरेली, आजमगढ़, शाहजहापुर, बुलन्दषहर एवं जौनपुर में डेरियों के सुदृढ़ीकरण, उच्चीकरण एवं प्रयोगशालाओं की अवस्थापना विकास हेतु राज्यांश के रूप में रू0 651.00 लाख तथा जनपद अम्बेडकरनगर, इटावा, बिजनौर, सुल्तानपुर, पशुआहार निर्माणशाला वाराणसी एवं मेरठ मिनरल मिक्सचर प्लाण्ट में डेरियों के सुदृढ़ीकरण, उच्चीकरण एवं प्रयोगशालाओं की अवस्थापना विकास हेतु रू0 304.125 लाख, इस प्रकार राष्ट्रीय कृषि विकास योजनाएं (आर0के0वी0वाई0) योजनान्तर्गत वित्तीय वर्ष 2016-17 में प्राविधानित धनराशि रू0 2000.00 लाख के सापेक्ष रू0 1954.205 लाख उपलब्ध कराया गया।